Sunday, June 6, 2021

आईसीआई मैस स्नैग टेस्टर द्वारा फैब्रिक के स्नैगिंग प्रतिरोध का परीक्षण ( Fabric snagging test)

 आईसीआई मैस स्नैग टेस्टर द्वारा फैब्रिक के स्नैगिंग प्रतिरोध का परीक्षण


फैब्रिक का स्नैगिंग प्रतिरोध:

स्नैगिंग प्रतिरोध एक विशेष प्रकार का घर्षण होता  है। कपड़े की संरचना का एक हिस्सा एक ऐसी खुरदरी सतह  पर पकड़ता है जिसके परिणामस्वरूप  कपड़े की संरचन से खुरदरी सतह कपडे के कुछ धागों को पकड़ लेता है और  स्नैगिंग के मामले में  कपडे में लगा यार्न अपनीजगह में   कुछ परिवर्तन आ जाता  है। स्नैगिंग तब होती है जब कोई वस्तु कपड़े के सामान्य पैटर्न से फाइबर, यार्न, या यार्न सेगमेंट के समूह से रगड़ती  है, तोड़ती है, खरोंच करती है या खिचती  है।

स्नैगिंग को मुख्य निम्न श्रेणियों में वर्गीकृत किया जा सकता है:

1 - स्नैगिंग जिसमें प्रोट्रूजन होता है और कोई विकृति नहीं होती है

2 - स्नैगिंग जिसमें विकृति हो और प्रोट्रूजन कोई  न हो।

3 - स्नैगिंग जिसमें प्रोट्रूजन और विकृति दोनों हों।

प्रोट्रूजन और विकृति भी कपड़े की दृश्यता को प्रभावित करती है, जिससे रंग कंट्रास्ट  जैसे अन्य परिवर्तन की भी सूचना मिलती है। विभिन्न प्रकार के स्नैगिंग के चित्र नीचे दिए गए हैं:

प्रयुक्त उपकरण:

कपड़े के स्नैगिंग प्रतिरोध के परीक्षण में उपयोग करने वाले मुख्य उपकरण नीचे दिए गए हैं:

1 - आईसीआई मैस स्नैग टेस्टर

2 - कपड़ा।

3 - कैंची।

4 - मापने का पैमाना।

५ - मार्किंग पेन।

6 - सिलाई मशीन।

7 - मानक कैलिब्रेटेड  कपड़ा और दृश्य रेटिंग मानक

(i) कपड़ा मानक

(ii) फोटोग्राफिक मानक

नमूना की तैयारी:

सैंपल साइज की मार्किंग टेम्प्लेट और मार्किंग पेन की मदद से की जाती है। नमूने का आकार घूमने वाले सिलेंडर की परिधि और लंबाई के अनुसार रखा जाता है। सिलाई का मार्जिन भी लंबाई और चौड़ाई में छोड़ा जाता  है।

परीक्षण प्रक्रिया:

 कटे हुए नमूने की  सिलाई करके नमूने से  एक ट्यूब का निर्माण किया जाता है। ट्यूब का साइज रोटेटिंग सिलिंडर के हिसाब से रखा जाता है। नमूना ट्यूब का व्यास और लंबाई घूर्णन सिलेंडर के अनुसार रखा जाता है जैसा कि नीचे योजनाबद्ध आरेख में दिखाया गया है।

इस नमूने की ट्यूब को घूमने बाले  सिलेंडर के ऊपर सावधानी से लगाया जाता  है। इस ट्यूब को घूमने वाले सिलेंडर के ऊपर 'ओ' रिंग्स (इलास्टिक रिंग) की मदद से टाइट रखा जाता है। प्रत्येक सिलेंडर के लिए दो 'ओ' रिंग का उपयोग किया जाता है।

अब स्टील की चेन की मदद से लटकती हुई  एक स्पाइक बॉल को घूर्णन सिलेंडर के ऊपर रखा जाता है।

सभी आवश्यक सेटिंग्स गेज की मदद से की जाती हैं।

अंत में बिजली की आपूर्ति को चालू किया जाता  है और टाइमर रीसेट किया  जाता है। आवश्यक परीक्षण समय 30 सेकंड टाइमर में दर्ज किया जाता  है।

तकनीशियन स्टार्ट बटन दबाता है। जैसा कि चित्र में दिखाया गया है, घूमने वाले सिलेंडर दक्षिणावर्त दिशा में घूमने लगते हैं। जैसे ही ट्यूब घूमती है, एक नुकीली गेंद कपड़े के ऊपर बेतरतीब ढंग से उछलती है।

जब दर्ज किया गया समय पूरा होने तक पहुंच जाता है, तो मशीन तुरंत बंद हो जाती है। लोचदार छल्ले हटा दिए जाते हैं और इस नमूने की ट्यूब को सिलेंडर से हटा दिया जाता है।

इस नमूने की तुलना स्नैग्ड फैब्रिक स्टैंडर्ड या फोटोग्राफ से की जाती है।

नमूने को 1 - 5 के पैमाने पर रेट किया गया है।

1 (बहुत गंभीर स्नैगिंग)

5 (कोई स्नैगिंग नहीं)\

No comments:

Post a Comment

Featured Post

विभिन्न प्रकार के कॉम्पैक्ट स्पिनिंग सिस्टम्स, कॉम्पैक्ट स्पिनिंग के उद्देश्य, लाभ और सीमाएं (Objectives of compact spinning system, different types of compact spinning systems advantages and limitations)

  कॉम्पैक्ट स्पिनिंग  प्रणाली (कॉम्पैक्ट स्पिनिंग सिस्टम): रिंग स्पिनिंग प्रक्रिया में कॉम्पैक्ट स्पिनिंग तकनीक की आवश्यकता क्यों होती है? प...