Monday, June 14, 2021

खोखली स्पिंडल से कताई विधि (रैप स्पिनिंग प्रक्रिया) or hollow spindle spinning method

 खोखली  स्पिंडल से  कताई विधि (रैप स्पिनिंग  प्रक्रिया):


रैप स्पिनिंग प्रोसेस:

रैप स्पिनिंग एक ऐसी प्रक्रिया है जिसमें समानांतर  ड्राफ्टेड  तंतुओं के स्ट्रैंड को फाइबर्स या फिलामेंट यार्न के द्वारा फाबइर स्ट्रैंड के चारो तरफ लपेटा जाता है  फाइबर स्ट्रैंड से निकलने वाले सतह के तंतुओं या एक सतत फिलामेंट या फिलामेंट्स को फाइबर स्ट्रैंड के चारो ऒर लपेटने से फाइबर स्ट्रैंड के फाइबर आपस में ही  वाइंड हो जाते है और फाइबर स्लिपेज नहीं होता  है। रैपिंग फिलामेंट रैप स्पिनिंग प्रक्रिया से बनने  बाले यार्न को सुसंगतता और मजबूती प्रदान करता है।

रैप स्पिनिंग  प्रक्रिया में अनुप्रयोगों की एक विस्तृत श्रृंखला के साथ उच्च गुणवत्ता वाले विशिष्ट यार्न का उत्पादन किया जाता है।



रैप्ड  यार्न में दो घटक होते हैं। पहले घटक में यार्न कोर में स्टेपल फाइबर का स्ट्रैंड  तैयार किया जाता है। दूसरा घटक एक फिलामेंट है जो ड्राफ्ट किए गए फाइबर स्ट्रैंड के चारों ओर लपेटा जाता है।

रैप्ड  यार्न  के उत्पादन के लिए खोखली  स्पिंडल  कताई विधि( होलो स्पिंडल स्पिनिंग मेथड ) का सबसे अधिक उपयोग किया जाता है।

खोखली  स्पिंडल कताई विधि:

खोखली  स्पिंडल  कताई विधि का पूरा तंत्र चार वर्गों में विभाजित किया जा सकता है:

 - रोलर ड्राफ्टिंग तंत्र।

 - खोखली  धुरी ( होलो स्पिंडल )।

 - डिलीवरी रोलर्स और पैकेज बिल्डिंग मैकेनिज्म की जोड़ी।

रोलर ड्राफ्टिंग तंत्र:

ड्राफ्टिंग  रोलर तंत्र में रोलर्स की एक श्रृंखला होती है। ये ड्राफ्टिंग रोलर्स संसाधित होने वाले फाइबर स्ट्रैंड की प्रति यूनिट लंबाई के रैखिक घनत्व या वजन को कम करते हैं।

३/३  या ४/४  रोलर ड्राफ्टिंग असेंबली 5 - 59 की ड्राफ्ट रेंज के साथ क्लैम्पिंग पॉइंट या ड्राफ्ट विधियों के चयन की अनुमति देती है। 50 - 220 मिमी के बीच  लंबाई के फाइबर्स को प्रभावी ढंग से संसाधित किया जा सकता है। दोषों की पहचान करने और यार्न की गुणवत्ता में सुधार के लिए इलेक्ट्रॉनिक निगरानी का उपयोग किया जाता है। ड्राफ्टिंग असेंबली की विशेष विशेषताओं में कताई त्रिकोण के स्पिंडल  के केंद्र में स्वतः संरेखण  और ड्राफ्टिंग  रोलर्स पर निरंतर सक्शन  शामिल है, जो रोलर लैपिंग को समाप्त करता है और कताई क्षेत्र में स्वयं-सफाई में सहायता करता है। न्युमेटिक  थ्रेडिंग खोखली  स्पिंडल के लिए एक वैकल्पिक अरेंजमेंट होता  है और ऑपरेटिंग समय को गति देता है। धागा टूटने  पर स्पिंडल को रोकने के लिए  और एंड-ब्रेक का पता लगाने के लिए मशीन एक  फोटोइलेक्ट्रिक सेल मॉनिटर से सुसज्जित होती है।

खोखली  स्पिंडल  तंत्र ( होलो स्पिंडल सिस्टम):

खोखली स्पिंडल को  आभासी  ट्विस्टिंग असेंबली के रूप में डिज़ाइन किया जाता  है। फाइबर स्ट्रैंड सीधे स्पिंडल में प्रवेश करने के तुरंत बाद, ऊर्ध्वाधर स्पिंडल में प्रवेश करने के बाद सीधे नहीं गुजरता है; इस स्ट्रैंड को स्पिंडल परिधि के लगभग एक-चौथाई हिस्से की लपेट के साथ स्पिंडल के चारों ओर बार-बार बाहर ले जाया जाता है। इस प्रकार, जैसे-जैसे स्पिंडल घूमता है, स्ट्रैंड को ड्राफ्टिंग व्यवस्था और खोखली  स्पिंडल के हेड  के बीच एक मोड़टर्न्स ( ट्विस्ट ) प्रदान किया जाता है। आभासी ट्विस्टिंग  सिद्धांत के अनुसार स्पिंडल हेड में ट्विस्ट के इन टर्न्स  को फिर से अनट्विस्ट   कर दिया जाता है। यह ट्विस्ट  फिलामेंट के साथ लपेटने वाले फिलामेंट स्टेपल फाइबर से पहले स्ट्रैंड को लंबाई में अलग होने से रोकता है।

एक रैप स्पन  यार्न में स्टेपल फाइबर के अनट्विस्ट समानांतर बंडल होते हैं जो चित्र 2 में दिखाए गए अनुसार हेलिकली  रैप्ड फिलामेंट द्वारा एक साथ रखे जाते हैं। यार्न में फिलामेंट का अनुपात लगभग 2 - 5% तक होता  है। फिलामेंट के पेचदार लपेटने  और रेडियल दबाव  के कारण, अलग-अलग स्टेपल फाइबर के बीच आवश्यक सामंजस्य में सुधार होता है। यह धागे को वांछित शक्ति प्रदान करता है। एक मानक पीएल यार्न में प्रति यूनिट लंबाई में ट्विस्ट  की संख्या लगभग  रिंग स्पन यार्न में ट्विस्ट  की मात्रा के समान होती है।

पैकेज निर्माण तंत्र  और डिलीवरी  रोलर्स  की जोड़ी:

यार्न को आगे की और बढ़ाने के लिए  डिलीवरी रोलर्स की एक जोड़ी उपयोग की जाती  है

डिलीवरी रोलर्स द्वारा प्राप्त यार्न को एक यार्न पैकेज पर लपेटा जाता  है। एक बार जब यार्न खोखली  स्पिंडल और डिलीवरी रोलर्स को छोड़ कर आगे की तरफ बढ़ता  है, तो यह एक ट्रैवर्स गाइड से होकर गुजरता है। यह ट्रैवर्स गाइड यार्न को पैकेज के  एक तरफ से दूसरी तरफ क्षैतिज रूप सेथ वितरित करता है। जब एक परत पूरी हो जाती है, तो अगली परत शुरू हो जाती है। ट्रैवर्स गाइड का उपयोग खोखली  स्पिंडल और बोबिन के बीच एक कनेक्शन के रूप में किया जाता है जहां यार्न संग्रहीत किया जाता है।

No comments:

Post a Comment

Featured Post

फ्रिक्शन स्पिनिंग विधि, मुख्य विशेषताएं, सीमाएं, बुनियादी संरचना और फ्रिक्शन स्पिनिंग मशीन का कार्य सिद्धांत (Friction spinning method, main features, limitations, basic structure and working principle of friction spinning machine )

 फ्रिक्शन स्पिनिंग  विधि, मुख्य विशेषताएं, सीमाएं, बुनियादी संरचना और फ्रिक्शन स्पिनिंग  मशीन का कार्य सिद्धांत फ्रिक्शन स्पिनिंग क्या है? ....