Sunday, June 6, 2021

कपड़े की वायु पारगम्यता का परीक्षण: ( Fabric air permeability test )

 कपड़े की वायु पारगम्यता का परीक्षण:


कपड़े की वायु पारगम्यता:

 "कपड़े के प्रति इकाई क्षेत्र से प्रति सेकंड कपडे के एक ओर से दूसरी ओर पार होने बली  हवा की मात्रा को कपड़े की वायु पारगम्यता कहा जाता है"। इसे घन सेंटीमीटर प्रति सेकंड प्रति वर्ग सेंटीमीटर (सेमी3/सेकंड/सेमी2) में मापा जाता है।

यह कपडे में प्रति वर्ग इंच में धागों की संख्या , कपडे में प्रयुक्त यार्न  और कपड़े की प्रति वर्ग इकाई वजन पर निर्भर करता है। यदि दो कपड़ों की ताना और बाने की संख्या समान है, तो प्रति वर्ग इंच अधिक धागे वाले कपड़े, कम धागे की संख्या  वाले कपड़े की तुलना में कम  हवा पारगम्यता देते हैं।

यदि दो कपड़ों के प्रति वर्ग इंच में धागे की गिनती समान है, तो मोटे धागे से बना कपड़ा कम  हवा की पारगम्यता देता है।

कपड़े की हवा पारगम्यता का परीक्षण:

कपड़े की वायु पारगम्यता की परीक्षण प्रक्रिया नीचे दी गई है:

प्रयुक्त उपकरण:

1- शर्ले एयर परमाबिलिटी टेस्टर:

2 - कपड़ा

3 - कैंची

४ - मार्किंग पेन

नमूना को तैयार करना:

नमूना की टेम्पलेट  के आकार के अनुसार नमूना का  आकार रखा जाता है। आम तौर पर, कपड़े पर 2.54 सेंटीमीटर का एक चक्र अंकित होता है। पर्याप्त क्लैम्पिंग मार्जिन भी नमूने के साथ रखा जाता  है। यदि आप एक आयताकार कपड़ा लेते हैं जिसकी लंबाई और चौड़ाई 2.54 सेंटीमीटर से अधिक है और अतिरिक्त क्लैम्पिंग मार्जिन है, तो इसे सीधे एक सर्कल को काटे बिना इस्तेमाल किया जा सकता है। पांच नमूने तैयार किए गए हैं।

परीक्षण प्रक्रिया:

पूरी परीक्षण प्रक्रिया नीचे दिए गए चरणों में पूरी होती है:

1- सबसे पहले सैंपल क्लैंप 'जे' को खोला जाता है । नमूना फिक्सिंग प्लेट 'I' पर नमूना रखा जाता है । अब नमूना क्लैंप को अच्छी तरीके  से कस दिया जाता है ।

2- अब उपकरण एक उपयुक्त विद्युत आपूर्ति से जोड़ा जाता  है। अब बिजली आपूर्ति स्विच को चालू कर  दिया जाता है। एयर सक्शन पंप कपड़े के नमूने के माध्यम से हवा को चूसना शुरू कर देता है।

3 - चार रोटामीटर एयर सर्किट से जुड़े होते हैं। प्रारंभ में, तकनीशियन पहले रोटमीटर 'ए' को एक नॉब घुमाकर सर्किट में यूज में लाता  है।

4- उपकरण के साथ प्रदान किए गए विभिन्न वाल्वों को विनियमित करके दो कपड़े सतहों (फ्रंट और बैक ) के बीच एक विशिष्ट दबाव ड्रॉप प्राप्त किया जाता है 

5- फ्लोट के शीर्ष पर रोटामीटर की रीडिंग देखी जाती है।

6 - यदि नमूने के माध्यम से वायु प्रवाह की दर रोटामीटर 'ए' पर एक संकेत उत्पन्न करने के लिए बहुत कम है, तो इसे अगले रोटामीटर बी, सी, और डी में क्रम में तब तक स्विच ऑन या स्विच ऑन किया जाता है जब तक कि एक संकेत प्राप्त नहीं हो जाता है ।

7 - विशिष्ट दबाव ड्रॉप 10 मिमी वाटर हेड  पर रखा जाता है।

8 - जब विशिष्ट दबाव ड्रॉप ठीक से हासिल किया जाता है। रोटामीटर की रीडिंग रिकॉर्ड की जाती है।

9 - पांच परीक्षण नमूनों का परीक्षण किया जाता है।

10 - परीक्षण के दौरान 20 डिग्री सेल्सियस प्लस या माइनस 2 डिग्री तापमान और 65% सापेक्ष आर्द्रता रखी जाती  है।

11 - हवा के रिसाव को रोकने के लिए रबर गैसकेट का उपयोग किया जाता है।

12- सभी पांच रीडिंग के माध्य की गणना की जाती है।

No comments:

Post a Comment