Sunday, June 20, 2021

टैपेट शेडिंग मैकेनिज्म (नकारात्मक शेडिंग) negative tappet shedding mechanism ( structure and working principle )

 टैपेट शेडिंग मैकेनिज्म (नकारात्मक शेडिंग)

शेडिंग मोशन पहली प्राथमिक करघा मोशन होती है। "मैनुअल या मैकेनिकल प्रक्रिया द्वारा ताना शीट को दो परतों में बाँटने  की प्रक्रिया को शेडिंग मोशन कहा जाता है। वार्प यार्न की परतें हील्ड शाफ्ट द्वारा बनाई जाती हैं। चूंकि हम जानते हैं कि वार्प एंड्स  को हेल्ड वायर  की आंखों के माध्यम से भरा  जाता है और जब शेडिंग मोशन लूम में होती  हैं तब कुछ  शाफ्ट ऊपर उठ जाते हैं और शेष शाफ्ट नीचे गिर जाते हैं और वेफ्त इंसर्शन के लिए रीड के सामने एक वी-आकार का मार्ग बनता है। वेफ्त  इंसर्शन के लिए वी-आकार के इस मार्ग को "शेड" कहा जाता है।


नकारात्मक टैपेट शेडिंग तंत्र की संरचना:

इस नेगेटिव टैपेट शेडिंग मैकेनिज्म में दो टैपेट्स का इस्तेमाल किया जाता है। टैपेट्स एक काउंटरशाफ्ट पर लगे होते हैं।

यह काउंटरशाफ्ट, बॉटम  शाफ्ट से स्पर गियर के माध्यम से घूर्णन गति प्राप्त करता है।

काउंटरशाफ्ट एक चक्कर पूरा  करता है जब निचला शाफ्ट एक प्लैन टैपेट शेडिंग तंत्र के लिए एक चक्कर के लिए घूमता है।

दो ट्रेडल लीवर का उपयोग किया जाता है। इन ट्रेडल लीवर पर एंटी-फ्रिक्शन बाउल भी लगे होते हैं।

प्रत्येक टैपेट संबंधित एंटीफ्रिक्शन बाउल   को छूता है। टैपेट्स को इस तरह से लगाया जाता है कि दोनों टैपेट्स की लिफ्टिंग पोजीशन एक दूसरे के ठीक विपरीत रखी जाती है।

ट्रेडल लीवर को जैक बार की मदद से हील्ड शाफ्ट से जोड़ा जाता है।

प्रत्येक शाफ़्ट  शाफ्ट का शीर्ष भाग एक चमड़े के पट्टा की मदद से रिवर्सिंग  रोलर से जुड़ा होता है।

प्रत्येक हील्ड  शाफ्ट के लिए चमड़े की दो पट्टियों का उपयोग किया जाता है। चमड़े की पट्टियों के माध्यम से हील्ड  शाफ्ट और रिवर्सिंग रोलर के बीच कनेक्शन की विधि नीचे की आकृति में दिखाई गई है।

नकारात्मक टैपेट शेडिंग तंत्र का कार्य सिद्धांत:

घूमने वाला बॉटम  शाफ्ट स्पर गियरिंग के माध्यम से गति को काउंटरशाफ्ट तक पहुंचाता है।

जैसे ही काउंटरशाफ्ट घूमता है, काउंटरशाफ्ट पर लगाए गए टैपेट्स उसी दिशा में घूमने लगते हैं।

घूमने वाला टैपेट एंटीफ्रिक्शन बाउल  को दबाता है।

चूंकि एंटी-फ्रिक्शन बाउल  ट्रेडल लीवर पर लगा होता है इसीलिए  ट्रेडल लीवर भी नीचे की स्थिति में चला जाता है।

चूंकि ट्रेडल लीवर का पिछला सिरा जैक बार से जुड़ जाता है, जिससे इस ट्रेडल लीवर से जुड़ा हील्ड शाफ्ट नीचे की स्थिति में आ जाता है और दूसरा हील्ड शाफ्ट ऊपर की स्थिति में चला जाता है क्योंकि फ्रंट हील्ड शाफ्ट की डाउनवर्ड मूवमेंट रिवर्सिंग  रोलर कोआंशिक  घूर्णी गति प्रदान करती है। 

काउंटरशाफ्ट की आधी चक्कर  के बाद टैपेट्स की स्थिति बदल जाती है।

अब दूसरा टैपेट संबंधित ट्रेडल लीवर पर लगे बाउल को दबाता है।

बैक हील्ड शाफ्ट नीचे की स्थिति में चला जाता है।

फ्रंट हील्ड शाफ्ट रिवर्सिंग रोलर द्वारा ऊपर उठता है जो बैक हील्ड शाफ्ट से जुड़े चमड़े की पट्टियों के माध्यम से रिवर्स मूवमेंट प्राप्त करता है।

इस तरह, आगे और पीछे के शाफ्ट की स्थिति नियमित रूप से बदलती रहती है।

No comments:

Post a Comment

Featured Post

फ्रिक्शन स्पिनिंग विधि, मुख्य विशेषताएं, सीमाएं, बुनियादी संरचना और फ्रिक्शन स्पिनिंग मशीन का कार्य सिद्धांत (Friction spinning method, main features, limitations, basic structure and working principle of friction spinning machine )

 फ्रिक्शन स्पिनिंग  विधि, मुख्य विशेषताएं, सीमाएं, बुनियादी संरचना और फ्रिक्शन स्पिनिंग  मशीन का कार्य सिद्धांत फ्रिक्शन स्पिनिंग क्या है? ....