Sunday, May 30, 2021

एयर-जेट लूम वेफ्ट इंसर्शन सिस्टम की संरचना और कार्य सिद्धांत( Structure and working principle of air-jet loom weft insertion system)

एयर-जेट लूम वेफ्ट इंसर्शन सिस्टम की संरचना और कार्य सिद्धांत


  एयर जेट लूम वेफत  इंसर्शन सिस्टम:

एयर-जेट लूम में संपीड़ित हवा की एक धारा की मदद से वेफ्ट इंसर्शन किया जाता है। यह  वेफ्ट इंसर्शन विधि लूम  को  उच्च गति और अच्छी फैब्रिक गुणवत्ता प्राप्त करने में सक्षम बनाती है। एयर-जेट लूम में बहुत कम रखरखाव लागत आती  है। एयर-जेट लूम में उच्च लूम  दक्षता भी प्राप्त होती है। एयर-जेट लूम का मुख्य नुकसान उच्च बिजली की खपत और कंप्रेसर की अतिरिक्त लागत और इसके रखरखाव  का  है। बाने के रंगों की संख्या सीमित है। एयर जेट लूम में मुख्य रूप से टैपेट शेडिंग मोशन का उपयोग किया जाता है। जब हम डॉबी या जैकार्ड  शेडिंग का उपयोग करते हैं, तो लूम  की गति कम हो जाती है। आप नीचे दी गई तस्वीर में देख सकते हैं:

एयर-जेट वेफ्ट  इंसर्शन सिस्टम में  वेफ्ट  यार्न पैसेज:

वेफ्ट  यार्न पैकेज को क्रील पर रखा जाता  है। बाने के पैकेजों की संख्या कपड़े में इस्तेमाल होने वाले बाने के रंगों की संख्या पर निर्भर करती है। जब कपड़े में एक से अधिक प्रकार के वेट काउंट का उपयोग किया जाता है तो यार्न के पैकेज भी बढ़ जाते हैं।

इसके बाद, वेफ्ट  यार्न वेफ्ट  एकुमुलेटर से गुजरता है जो वेफ्ट  इंसर्शन के दौरान स्थिर  तनाव पर नियमित वेफ्ट  सप्लाई सुनिश्चित करता है।

अंत में, बाने का धागा मुख्य नोजल में प्रवेश करता है और वहीं टिका होता है।


एयर-जेट लूम वेफ्ट  इंसर्शन साइकिल:

जब रीड बैक डेड सेंटर पोजीशन की ओर बढ़ता है और स्ले की स्थिर  रहने की अवधि शुरू होती है, तो वेफ्ट  इंसर्शन चक्र शुरू होता है। सबसे पहले वेफ्ट  एकुमुलेटर  का वेफ्ट  ब्रेक खुल जाता है। अब मेन नोजल की एयर सप्लाई चालू हो जाती है। मुख्य नोजल से निकलने वाली संपीड़ित हवा की धारा बाने के धागे को शेड के अंदर  धकेलती  है। वेफ्ट  यार्न एक  निश्चित  पैसेज का  अनुशरण  करता  है। इस उद्देश्य के लिए एक प्रोफ़ाइल रीड का उपयोग किया जाता है जैसा कि नीचे योजनाबद्ध आरेख में दिखाया गया है। अब रिले नोजल  सेकंड के कुछ अंश के बाद एक के बाद एक कार्य करती है। जैसे ही बाने की यात्रा पूरी होती है, बाने का ब्रेक तुरंत बंद हो जाता है और एयर स्ट्रेच  नोजल बाने के धागे की पूंछ को अपने अंदर खींच  लेता है। इसके बाद रीड बीटिंग पोजीशन की ओर बढ़ना शुरू कर देता है और आखिरी डाली गई पिक को बीट कर देता  है। जैसे ही रीड कपड़े के फेल ऑफ़ दा क्लॉथ  से दूर जाने लगता है, फिलिंग कटर वेफ्ट के  धागे को काट देता है। यह चक्र लगातार दोहराया जाता है। आप नीचे दिए गए चित्र से बाने के सम्मिलन चक्र को समझ सकते हैं:


एयर-जेट वेट इंसर्शन सिस्टम की संरचना और कार्य सिद्धांत:


एयर जेट लूम का कार्य सिद्धांत बहुत सरल है। धागे को शेड में डालने के लिए संपीड़ित हवा का उपयोग किया जाता है। मुख्य वेफ्ट  इंसर्शन मैकेनिज्म आमतौर पर ज्यादातर लूम्स  में बाईं ओर लगा होता है।

वेफ्ट  यार्न पैकेज को क्रील  पर रखा जाता है। क्रील  पर चार पैकेज लगे हो सकते हैं। यह संख्या लूम के स्पेसिफिकेशन्स  के अनुसार भिन्न भी हो सकती है। प्रत्येक वेफ्ट  यार्न पैकेज के लिए वेफ्ट  क्रील  पर एक वेफ्ट  टेंशनर और थ्रेड गाइड लगे होते हैं। थ्रेड गाइड वेफ्ट  एकुमुलेटर  की ओर बाने का निश्चित और सुरक्षित मार्ग प्रदान करता है। चूंकि वेफ्ट  इंसर्शन के दौरान वेफ्ट  यार्न बहुत जल्दी जल्दी वेफ्ट पैकेज से  अंवाइंड होता  है, इसलिए प्रत्येक वेफ्ट  यार्न पैकेज के लिए बैलून सेपरेटर का भी उपयोग किया जाता है।

इसके बाद में वेफ्ट एकुमुलेटर  आता है। इसे चौकोर या  गोल पाइप फ्रेम पर लगाया गया है। इस फ्रेम पर  एकुमुलेटर के ऊपर टाइट किया जाता है। वेफ्ट  ेकुमुलेटर्स  की संख्या कपड़े में उपयोग किए जाने वाले  वेफ्ट के रंगों की संख्या पर निर्भर करती है। यह वेफ्ट एकुमुलेटर  इंसर्शन प्रक्रिया के दौरान स्थिर  यार्न टेंशन पर वेफ्ट  यार्न की निरंतर आपूर्ति सुनिश्चित करता है। वेफ्ट एकुमुलेटर  एयर-जेट लूम में आवश्यक पिक लेंथ भी तय करता है। सबसे पहले, प्रयुक्त रीड स्पेस को मापा जाता है। अब एकुमुलेटर  ड्रम की परिधि की गणना की जाती है। जरुरी वेफ्ट  कॉइल्स की संख्या की गणना उपरोक्त दोनों  मापदंडों की मदद से की जाती है। कॉइल की यह संख्या नियंत्रण कंप्यूटर में दर्ज की जाती है। कॉइल्स की संख्या एक पूर्ण संख्या होनी चाहिए। यदि हमारी आवश्यक वेफ्ट  कॉइल्स  की संख्या एक पूर्ण संख्या नहीं है, तो एकुमुलेटर  ड्रम का व्यास समायोजित किया जाता है और पूर्ण संख्या ज्ञात की जाती है। एकुमुलेटर  ड्रम के ऊपर एक वेफ्ट  ब्रेक भी लगाया जाता है। जब वेफ्ट  इंसर्शन होता है, तो कंट्रोल कंप्यूटर शेड में डाले जाने वाले वेफ्ट  कॉइल्स की संख्या को गिनता है। जैसे ही कॉइल डालने की संख्या प्रीसेट वैल्यू तक पहुंच जाती है, कंट्रोल कंप्यूटर तुरंत वेफ्ट  ब्रेक को सक्रिय करने के लिए एक कमांड भेजता है। यह वेफ्ट ब्रेक अगले संकेत  तक बाने की आपूर्ति को रोकता है। वेफ्ट  ब्रेक टाइमिंग को कंट्रोल कंप्यूटर में भी दर्ज किया जाता है।

अगला काम मुख्य नोजल का होता है । यह मुख्य नोजल संपीड़ित हवा की आपूर्ति से जुड़ा है। मेन नोजल की हवा की आपूर्ति नियंत्रण कंप्यूटर द्वारा चुंबकीय वाल्व के माध्यम से नियंत्रित की जाती है। एक वायु दाब नियामक वाल्व मुख्य नोजल के वायु दाब को नियंत्रित करता है। बाने का धागा मुख्य नोजल के अंदर ठहरा  होता है। जब कंट्रोल कंप्यूटर चुंबकीय वाल्व को एक कमांड भेजता है, तो मुख्य नोजल की वायु आपूर्ति चालू हो जाती है। संपीड़ित हवा बाने के धागे को शेड के अंदर ले जाती है।

अकेला मुख्य नोजल बाने के धागे को एक सेल्वेज से दूसरे सेल्वेज  तक शेड के अंदर में नहीं डाल सकता है। इसीलिए  बहुत  सारे रिले नोजल स्ले  पर लगे होते हैं। ये रिले नोजल संपीड़ित हवा की आपूर्ति से जुड़े होते हैं, और व्यक्तिगत रूप से चुंबकीय वाल्व द्वारा नियंत्रित होते हैं। ये रिले नोजल एक साथ सक्रिय नहीं होते हैं। जब मुख्य नोज़ल वेट यार्न को शेड में धकेलता है, तो मुख्य नोज़ल के पास स्थित रिले नोज़ल सबसे पहले सक्रिय होता है। जैसे-जैसे वेफ्ट  यार्न की यात्रा आगे बढ़ती है, अगले रिले नोजल सक्रिय होते हैं और वेफ्ट  यार्न की विपरीत साइड वाले  सेल्वेज की तरफ की  यात्रा को तेज करने में मदद करते हैं। जब बाने का धागा शेड के बाहर की तरफ पहुंचता है, तो बाने का ब्रेक बंद हो जाता है और एयर स्ट्रेच नोजल  बाने के धागे की पूंछ को अपनी ओर खींच  लेती है।

रीड पर स्ट्रेच नोजल की तरफ एक फिलिंग डिटेक्टर लगा होता है। यह नियमित रूप से बाने की उपस्थिति का पता लगाता है। यदि वेफ्ट  यार्न इंसर्शन कम हो जाता है या विफल हो जाता है, तो फिलिंग डिटेक्टर लूम  को तुरंत बंद कर देता है।

जब वेफ्ट  इंसर्शन पूरा हो जाता है, तो रीड फ्रंट डेड सेंटर पोजीशन की ओर बढ़ना शुरू कर देता है और आखिरी इंसर्ट किए गए पिक को बीट  कर  देता है। जैसे ही रीड बैक डेड सेंटर पोजीशन की ओर बढ़ना शुरू करता है, फिलिंग कटर वेट यार्न को काट देता है।

No comments:

Post a Comment

Featured Post

फैब्रिक प्रॉपर्टीज भाग - ३ ( fabric properties part - 3)

 फैब्रिक प्रॉपर्टीज भाग - ३ फैब्रिक पिलिंग:   जब कपड़े का उपयोग परिधान, फ्लैट शीट, फिटेड शीट, कार शीटिंग, टेबल लिनन आदि के लिए किया जाता है,...