Sunday, June 20, 2021

अंडर-पिक मोशन की संरचना और कार्य: ( Structure and working of under pick motion )


अंडर-पिक मोशन:

 चूंकि इस पिकिंग मोशन  में करघे के नीचे पूरा पिकिंग तंत्र लगा होता है और पिकिंग स्टिक भी करघे के नीचे शटल को टक्कर मरती  है, इसीलिए  इस तंत्र को  अंडर पिक मोशन कहा जाता है।

अंडर-पिक मोशन की संरचना और कार्य:

पिकिंग टैपेट को करघे के बॉटम  शाफ्ट पर लगाया जाता  है। पिकिंग टैपेट को क्लैंप और बोल्ट की मदद से बॉटम शाफ़्ट  पर टाइट किया  जाता है। इन बोल्ट और क्लैम्प द्वारा पिकिंग टैपेट टाइमिंग को बदला जा सकता है। पिकिंग टैपेट नोज को बोल्ट की मदद से पिकिंग टैपेट पर लगाया जाता है। पिकिंग  टैपेट नोज  की हाइट एडजस्टेबल होती है। अंडर पिक मोशन में साइड शाफ्ट का उपयोग किया जाता है। यह साइड  शाफ्ट  दोनों दिशाओं में घूमती है (घड़ी की दिशा में और घड़ी की विपरीत दिशा में)। शाफ्ट को ब्रैकेट्स  पर फिक्स किया जाता  है। साइड शाफ्ट के एक सिरे पर एक शंकु लगा होता है। साइड शाफ्ट का दूसरा सिरा लगभग 90 डिग्री के कोण पर झुका हुआ होता  है। यह दूसरा सिरा पिकिंग स्टिक से पिकिंग स्ट्रैप की मदद से जुड़ा होता है। पिकिंग स्टिक का निचला सिरा नुकीला होता है। यह दोनों दिशाओं में घूमने के लिए स्वतंत्र होता  है। पिकिंग स्टिक का ऊपरी सिरा पिकर से जुड़ा होता है।

जब क्रैंक शाफ्ट घूमता है, तो यह बॉटम  शाफ्ट को भी घुमाता है। बॉटम शाफ्ट के दोनों ओर समान पिकिंग मैकेनिज्म फिट किया जाता है। जब करघा दो चक्कर लगाता है, क्रैंक शाफ्ट दो चक्कर लगाता है और निचला शाफ़्ट  केवल एक चक्कर लगाता है।

 जब निचला शाफ्ट घूमता है तो बॉटम  शाफ्ट पर लगे पिकिंग टैपेट भी साथ साथ घूमते  है। पिकिंग टैपेट नोज  साइड शाफ्ट पर लगे शंकु को धक्का देती है। चूंकि शंकु को साइड शाफ्ट पर टाइट किया  जाता है ताकि जब शंकु नीचे की ओर धकेला जाए तो साइड शाफ्ट को भी घुमाया जा सके। साइड शाफ्ट का झुका हुआ सिरा पिकिंग स्टिक के मध्य भाग से पिकिंग स्ट्रैप की मदद से जुड़ा होता है। साइड  शाफ्ट आंशिक कोणीय गति करता है। जब साइड शाफ्ट वामावर्त दिशा में घूमता है, तो यह पिकिंग स्टिक को जबरदस्ती खींचता है। पिकिंग स्टिक के शीर्ष पर लगा पिकर शटल से टकराता है। इस प्रकार शटल एक शटल बॉक्स से दूसरे शटल बॉक्स में जाती है। अब खींचने वाला स्प्रिंग तुरंत कार्य करता है और तंत्र को उसकी पिछली स्थिति में लाता है।

No comments:

Post a Comment