Wednesday, June 2, 2021

यार्न काउंट टेस्टिंग और यार्न टेन्साइल स्ट्रेंथ टेस्टिंग, सीएसपी ऑफ यार्न( yarn count testing, yarn tensile strength testing , and C.S.P. calculation)


यार्न काउंट, टेन्साइल स्ट्रेंथ (बंडल स्ट्रेंथ और यार्न सी.एस.पी. परीक्षण


यार्न काउंट का  परीक्षण:

यार्न काउंट का परीक्षण नीचे के चरणों में पूरा होता है:

यार्न की लाक्षी  या ली तैयार करना:

यार्न पैकेज को रैप रील में कोन होल्डर पर रखा जाता है। अब सूत का सिरा एक थ्रेड  गाइड से होकर गुजरता है। यह सिरा रैप रील में लगे एक स्क्रू से बंधा होता है। नीचे चित्र देखें:


इस रैप रील में एक काउंटर मीटर लगाया गया है। यह काउंटर मीटर लक्षी में यार्न के रैप्स की संख्या को गिनने में मदद करता है। आज की रैप रील स्टॉप मोशन से लैस होती  है। जब यार्न के रैप्स की संख्या रैप्स की प्री फीड संख्या तक पहुंच जाती है, तो स्टॉप मोशन तुरंत सक्रिय हो जाता है और रैप रील को रोक देता है l रैप रील का व्यास 1.5 गज के बराबर हो जाता है। गणना परीक्षण के लिए 120 गज की लंबाई की लक्षी की आवश्यकता होती है। इस प्रकार काउंटर मीटर में रैप्स की संख्या तय हो जाती है। यानी ८०  रैप्स l रैप रील एक मोटर द्वारा संचालित होती है। जब सेट की लंबाई फीड नंबर तक पहुंच जाती है, तो इसे तुरंत रोक दिया जाता है। अब यार्न  की लक्षी को  मैन्युअल रूप से बाहर  निकाला जाता है। प्रारंभिक छोर और अंतिम छोर मजबूती से एक साथ बाँध दिया जाता हैं।

ली  या सूत की की लक्षी का बजन:

अब सूत की लक्षी  को इलेक्ट्रॉनिक तौल पैमाने में तौला जाता है। सुनिश्चित करें कि तौल पैमाने में कोई त्रुटि नहीं है। यदि कोई त्रुटि है, तो कृपया ली के वजन से पहले तोलने के पैमाने को रीसेट करें। कृपया नीचे चित्र देखें:



यार्न काउंट कैलकुलेशन :

                              = 2/ 14.76s

यार्न की टेंसाइल स्ट्रेंथ:

यह यार्न का सबसे महत्वपूर्ण पैरामीटर है। यार्न की टेंसाइल स्ट्रेंथ  यार्न को तोड़ने के लिए आवश्यक बल को कहते  है। यार्न की टेंसाइल स्ट्रेंथ  यार्न की एक बहुत ही महत्वपूर्ण गुण है। यह सीधे बुनाई और दूसरी प्रक्रिया के दौरान यार्न के प्रदर्शन को प्रभावित करता है। चूंकि बुनाई की विभिन्न प्रक्रियाओं के दौरान यार्न मध्यम तनाव से गुजरता  है और यार्न पर झटका भी  लगता  है, इसलिए  इस तनाव और झटके को बर्दास्त करने   के लिए यार्न में पर्याप्त ताकत होनी चाहिए। यार्न की ताकत का परीक्षण करने के लिए दो तरीकों का इस्तेमाल किया जाता है:

· बंडल स्ट्रेंथ 

· सिंगल एंड स्ट्रेंथ

बंडल स्ट्रेंथ:

इस विधि का प्रयोग केवल दो धागों की  स्ट्रेंथ की तुलना करने  में किया जाता है। बंडल स्ट्रेंथ  यार्न की ताकत का सही मूल्य नहीं देती है लेकिन यह एक ही काउंट  के दो यार्न की तुलना करने में मदद करती है। अगर हमें दो समान धागों के बीच सबसे अच्छा एक सूत चुनना है, तो बंडल स्ट्रेंथ  बहुत उपयोगी होती है।

120 गज (1.5 गज के 80 रैप्स वाले) का एक लक्षी  या ली तैयार किया जाता है। इसे वर्टिकल ली स्ट्रेंथ टेस्टर की मदद से तोड़ा जाता है और ब्रेकिंग फोर्स (टेन्साइल स्ट्रेंथ) को पाउंड, किलोग्राम या न्यूटन में दर्ज किया जाता है। अब यार्न के काउंट  और स्ट्रेंथ  की  गुणनफल  की गणना निम्नानुसार की जाती है:

टेंसाइल स्ट्रेंथ टेस्टर पर लक्षी को लोड करना :

यार्न की तैयार ली को तन्य टेंसाइल स्ट्रेंथ टेस्टर  पर लोड किया जाता है जैसा कि नीचे दिए गए चित्र में दिखाया गया है:

आपको हमेशा लोड सेल रीडिंग की जांच करनी चाहिए। लोड सेल की प्रारंभिक रीडिंग शून्य होनी चाहिए। यदि आपको प्रारंभिक पठन में कोई त्रुटि दिखाई देती है, तो कृपया लोड सेल के पठन को रीसेट करें।

ली या स्केन का तोड़ना:

अब मशीन को चालू करने के लिए हरे रंग का पुश बटन दबाया जाता है। जैसे-जैसे भार धीरे-धीरे बढ़ता है, भार टूटने के बिंदु तक पहुँचने पर ली टूट जाती है। अब लोड सेल की रीडिंग रिकॉर्ड की जाती है।


सी.एस.पी. गणना:

टेंसाइल स्ट्रेंथ  = १५९.८ किग्रा

                              = १५९.८ x २.२०४ एलबीएस

                              = 352.19 एलबीएस

सी.एस.पी. = यार्न काउंट  (एनई) x  टेंसाइल स्ट्रेंथ  (एलबीएस)

           = 7.38 x 352.19

सी.एस.पी. = २५९९.१६

अधिक सीएसपी वाला सूत, समान काउंट  में सूत के लिए कम सीएसपी वाले सूत से बेहतर होता है।

No comments:

Post a Comment

Featured Post

फैब्रिक प्रॉपर्टीज भाग - ३ ( fabric properties part - 3)

 फैब्रिक प्रॉपर्टीज भाग - ३ फैब्रिक पिलिंग:   जब कपड़े का उपयोग परिधान, फ्लैट शीट, फिटेड शीट, कार शीटिंग, टेबल लिनन आदि के लिए किया जाता है,...